Reliance Jio breaks its promise; to charge for calls to rival networks

For the first time ever, Reliance Jio will charge its subscribers for voice calls. The Mukesh Ambani-led telecom company said that its customers will have to pay 6 paise per minute for voice calls to other rival networks. However, Jio has promised to provide free data of equal value to offset the burden on its consumers.

Jio has decided to charge its users for outgoing calls to offload the pressure of interconnect usage charge (IUC) rates set by the Telecom Regulatory Authority of India (TRAI). The company claimed that it has paid Rs 13,500 crore to other operators as IUC charges over the past three years. Since it did not charge its customers for voice calls, the company had to bear this entire expense.

“So, for all recharges done by Jio customers starting today, calls made to other mobile operators will be charged at the prevailing IUC rate of 6 paise per minute through IUC top-up vouchers till such time that TRAI moves to Zero termination charge regime. Presently, this date is January 1, 2020,” Jio said in a statement on Wednesday.

Jio post-paid connections will also have to pay the 6 paise per minute charge for outgoing calls. The free data they are entitled to in one recharge cycle will be increased in lieu of the additional charges. The charges will not apply on outgoing calls to other Jio numbers, landline connections, or calls via WhatsApp, FaceTime or similar applications. Incoming calls to Jio will continue to be free of charge.

Notably, at the time of its launch, Reliance Jio had promised that voice calls from its network across the country will always be free. Before commencement of operations in September 2016, the company had said, “Jio has announced that domestic voice calls to any network across the country would be always free for Jio subscribers… the company reiterates that domestic voice calls to any network across the country, both in local as well as while roaming nationally, will be completely free for Jio subscribers forever i.e. even beyond 1 January 2017 – the data used for the voice calls will also neither be charged nor deducted from the data balance of the subscriber.”

Under the new arrangement, Jio subscribers will have to buy IUC top-up vouchers. The Rs 10 voucher will offer 124 IUC minutes and 1GB of free data. The Rs 20 IUC voucher will come with 249 non-Jio minutes and 2GB of additional data. The Rs 50 voucher will give 656 IUC minutes and 5GB of free data entitlement. The Rs 100 voucher is the costliest of the bunch and comes with 1,362 minutes and 10GB of free data entitlement.

Jio assured that its IUC charges will remain in effect only till the time TRAI abolishes them. The telecom regulator has said that the IUC charges will be made zero by January 1, 2020.

“In the meanwhile, consumers can continue to enjoy the additional data entitlement in lieu of the IUC top-up vouchers so that there is no effective tariff increase till December 31, 2019,” Jio said.

Additionally, Jio said that it will ensure priority allocation of the JioPhone via Reliance Retail stores to 2G users frequently called by its consumers.

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने स्‍वदेशी रक्षा प्रणाली विकास की सराहना की

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह अपनी एक दिवसीय बंगलूरू यात्रा के दौरान डीआरडीओ के एयरबॉर्न प्रणाली केन्‍द्र देखने गए। रक्षामंत्री को डीआरडीओ प्रयोगशालाओं के अनेक स्‍वदेशी उत्‍पाद दिखाए गए। इन उत्‍पादों में एईडब्‍ल्‍यूएंडसी, राडार प्रणाली, ईडब्‍ल्‍यू प्रणाली, यूएवी, निर्भय मिसाइल, रोबोटिक वाहन, स्‍वेदशी एयरक्राफ्ट इंजन, लघु टर्बोफैन इंजन, बायोमेडिकल प्रणाली, मिसाइलों के लिए माइक्रोवेव ट्रांसमिशन, सेमी कंडक्‍टर उपकरण आदि शामिल हैं।

इससे पहले रक्षामंत्री राजनाथ सिंह हल्‍के लड़ाकू विमान तेजस की उड़ान भरने वाले देश के पहले रक्षामंत्री के रूप में इतिहास रचा।उन्‍होंने हिन्‍दुस्‍तान एरोनॉटिक्‍स लिमिटेड(एचएएल) हवाई अड्डे पर एयर वाइस मार्शल नर्मेदश्‍वर तिवारी के साथ देश में निर्मित बहुद्देशीय लड़ाकू विमान में 30 मिनट की उड़ान भरी।

एयरबॉर्न प्रणाली केन्‍द्र में डीआरडीओ अधिकारियों को सम्‍बोधित करते हुए रक्षामंत्री ने कहा कि उनके लिए देश में विकसित लड़ाकू विमान में उड़ान भरने का गौरवशालीऔर यादगार पल रहा। उन्‍होंने स्‍वदेशी रक्षा प्रणालियों के विकास में वैज्ञानिकों तथा तकनीशियनों के निरंतर प्रयास की सराहना की।

राजनाथ सिंह ने कहा कि अस्‍त्र प्रक्षेपास्‍त्र, हल्‍के लड़ाकू विमान तेजस और बालाकोट में सफलतापूर्वक उपयोग किए गए नेत्र से डीआरडीओ में देश का फिर से विश्‍वास बढ़ा है। उन्‍होंने कहा कि देश को स्‍वदेशी प्रयासों के माध्‍यम से रक्षा सेनाओं की आवश्‍यकताओं की पूर्ति करनी चाहिए।

रक्षामंत्री ने देश की निर्माण प्रणाली का हिस्‍सा बनने के लिए भारतीय उद्योगों की सराहना की। उन्‍होंने बताया कि 2030 तक स्‍वेदशी उत्‍पादन 75 प्रतिशत हो जाएगा।  उन्‍होंने डीआरडीओ की विभिन्‍न सफलताओं और स्‍वदेशी उत्‍पादों की शानदार प्रदर्शनी  के लिए वैज्ञानिकों और कर्मियों को बधाई दी।

रक्षा अनुसंधान और विकास विभाग के सचिव तथा डीआरडीओ के अध्‍यक्ष डॉ. जी सतीश रेड्डी ने कहा कि रक्षामंत्री द्वारा हल्‍के लड़ाकू विमान तेजस में उड़ान भरना और डीआरडीओ की प्रदर्शनी देखना डीआरडीओ के वैज्ञानिकों और कर्मियों के लिए प्रोत्‍साहन है।

इस अवसर पर एचएएल के अध्‍यक्ष, महानिदेशक(ईसीएस), महानिदेश(एरोनॉटिक्‍स प्रणाली), महानिदेशक(पीसीएंडएसआई), महानिदेशक(मेडएंडसीओ), वित्‍तीय सलाहकार, डीआरडीओ के वैज्ञानिक, सशस्‍त्र बल के अधिकारी, एचएएल तथा अन्‍य एजेंसियों के अधिकारी मौजूद थे।

PIB

Chandrayaan 2: ISRO ने साझा की नई जानकारी

चंद्रयान-2 प्रोजेक्ट को लेकर इसरो ने नई जानकारी साझा करते हुए कहा कि चंद्रयान-2 का ऑर्बिटर सही तरीके से काम कर रहा है। तो वही वैज्ञानिक भी सफलता पूर्वक प्रोजेक्ट को अंजाम दे रहे हैं। वैज्ञानिकों की विशेष टीम लैंडर विक्रम के संपर्क टूटने की वजहों की खोज कर रही है। 

इसरो के वैज्ञानिक अब भी अपने चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर से संपर्क साधने में लगे हैं। चंद्रयान 2 का लैंडर विक्रम चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर उतरने में कामयाब ना रहा हो लेकिन, ISRO अभी भी विक्रम से संपर्क साधने की पूरी कोशिश कर रहा है।

इसरो ने बताया था कि चंद्रयान का ऑर्बिटर ठीक से काम कर रहा है। वहीं, नासा के प्रवक्ता ने हाल ही में कहा कि एजेंसी ISRO का समर्थन करने के लिए लैंडर विक्रम की पहले और बाद की तस्वीरें साझा करेगी। फिलहाल, अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी NASA ऑर्बिटर द्वारा क्लिक की गई तस्वीरों का विश्लेषण और समीक्षा कर रहा है। 

बता दें कि सात सितंबर को चांद पर लैंडिंग के महज 2.1 किलोमीटर पहले लैंडर विक्रम से इसरो का संपर्क टूट गया था। बताया जा रहा है कि इसका कारण उसका तेज गति से चांद की सतह पर तिरछा गिरना है। विक्रम लैंडर से संपर्क साधने की संभावना 21 सितंबर तक ही है। इसके बाद चांद के उस क्षेत्र में अंधेरा हो जाएगा। 

स्वच्छता ही सेवा पखवाड़े के तहत हज़ारों बच्चों ने ली प्लास्टिक मुक्त देश बनाने की शपथ

राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन, जल शक्ति मंत्रालय, भारत सरकार व राज्य परियोजना प्रबंधन ग्रुप, नमामि गंगे, उत्तराखंड के सयुक्त तत्वावधान में जिला गंगा समिति हरिद्वार के सहयोग से नगर निगम हरिद्वार द्वारा स्वच्छता ही सेवा कार्यक्रम का हरिद्वार में आयोजन किया गया। स्वच्छता ही सेवा कार्यक्रम का शुभारम्भ हरिद्वार आन्दमयी सेवा संदन की छात्राओं ने नगर में स्वच्छता रैली निकाल कर किया। रैली को नगर आयुक्त श्री उदय सिंह राना जी ने हरी झण्डी दिखा कर रवाना किया। स्वच्छता रैली नगर के मुख्य मार्गाें से होती हुई पन्ना लाल भल्ला इंटर कालेज में सम्पन्न हुई।

कालेज के प्रागण में माननीय कैबिनेट मंत्री श्री मदन कौषिक जी ने दीप प्रज्ज्वलित कर स्वच्छता ही सेवा कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर माननीय मंत्री श्री मदन कौषिक जी ने बच्चों को सम्बोधित करते हुए कहा कि स्वच्छता का दायित्व हम सभी का है और हमें सरकार की योजनाओं के साथ-साथ स्वयं भी स्वच्छता को लेकर जागरूक होना चाहिए। उन्होंने सिंगल यूज प्लाॅस्टिक के प्रयोग से होने वाली हानियों पर भी प्रकाष डाला और इसका प्रयोग न करने के लिए सभी को संकल्प लेने का आह्वान किया। उन्होंने प्रांगण में उपस्थित छात्र-छात्राओं, अभिभावकों, अध्यापकों, स्वयं सेवी संस्थाओं, नगर निगम के कर्मचारियों, अधिकारियों के स्वच्छता ही सेवा के तहत सिंगल यूज प्लाॅस्टिक व पॉलीथीन प्रयोग प्रतिबन्धीत किये जाने हेतु शपथ दिलाई।

कार्यक्रम में स्कूल छात्र-छात्राओं व स्वयं सेवी संस्थाओं द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम, नुक्कड़ नाटक, वाद विवाद प्रतियोगिता आदि कार्यक्रमों का आयोजन कर जनजागरुकता संदेश के साथ पॉलीथीन प्रयोग प्रतिबन्धीत किये जाने का संदेष दिया गया। कार्यक्रम में नगर आयुक्त श्री उदय सिंह राना जी ने पाॅलीथीन के प्रयोग को प्रतिबन्धीत किये जाने को लेकर सभी आम लोगों का आह्वान करते हुए कहा कि वह स्वयं भी और साथ में अन्य लोगों को भी इस ओर जागृत करने का काम करे।

पन्नालाल भल्ला इंटर कालेज में चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें कक्षा-7 से 12 तक के बच्चों ने प्रतिभाग किया। श्री शिखर पालिवाल प्रांत सह संयोजक गंगा विचार मंच ने बताया की प्रतियोगिता में चयनित छात्र-छात्राओं को राज्य परियोजना प्रबन्धन ग्रूप द्वारा पुरस्कृत किया जायेगा।लोगों में जागरुकता लाने के प्रयास हर तरह से किए जा रहे हैं ।

इस अवसर पर श्री ओपी गोनियाल प्रधानाचार्य पन्ना भल्ला इंटर कालेज, श्रीमती प्रधानाचार्य आन्दमयी सेवा संदन हरिद्वार, श्री अनिल शर्मा जी उपप्रधानाचार्य पन्नालाल भल्ला इंटर कालेज, श्री एसपी सिंह एनएसएस जिला समन्वयक हरिद्वार, श्री विकास तिवारी, श्री नरेश षर्मा, श्री शिखर पालिवाल प्रांत सह संयोजक गंगा विचार मंच, श्रीमति मधु भाटीया, तन्मय शर्मा, जितेन्द्र चैहान, राहुल गुप्ता, अभिनव, दिव्याषु शर्मा, सीमा चैहान, श्रीमती निधि दिवेद्वी राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन, जल शक्ति मंत्रालय, भारत सरकार, श्री पूरन कापड़ी राज्य परियोजना प्रबन्धन ग्रूप आदि उपस्थित रहे।

Rajnath Singh becomes first Raksha Mantri to fly ‘LCA Tejas

Rajnath Singh has scripted history by becoming the first Raksha Mantri to fly the Light Combat Aircraft (LCA) ‘Tejas’. Rajnath Singh undertook 30-minute sortie in the indigenously-built multi-role fighter aircraft with Air Vice Marshall Narmdeshwar Tiwari, at the Hindustan Aeronautics Limited (HAL) Airport in Bengaluru this morning.

Raksha Mantri described his experience of flying the fourth-generation aircraft as ’thrilling and special’. Congratulating HAL, Defence Research and Development Organisation (DRDO) and Aeronautical Development Agency (ADA) for building the multi-role fighter aircraft, Rajnath Singh said demand has been received for ‘Tejas’ from different countries. He expressed pride that India has reached a stage where fighter aircraft and arms & ammunition can be exported to the world.

Raksha Mantri also praised the Indian Air Force as well as Army & Navy for their professionalism, courage and bravery. “I am proud of the soldiers of our Armed Forces”, he said.

Air Vice Marshall Narmdeshwar Tiwari said Raksha Mantri even controlled ‘Tejas’ in the air for some time and was shown the Avionics and Sophisticated Systems onboard the aircraft. He said “ Rajnath Singh was very happy with the quality and smoothness of the aircraft”.

Earlier, Rajnath Singh was briefed about the functioning of the ‘Tejas’ by senior officials of Air Force.

Dr G Satheesh Reddy, Secretary, Department of Defence R&D and Chairman, DRDO; R. Madhavan, CMD, HAL and other senior officials of DRDO and HAL were present on the occasion.

Tejas is a multi-role fighter with several critical capabilities. It is meant to strengthen India’s air defence capabilities.

Make in India, export from here, Prasad tells tech majors

Stating that its investments in India till now were just a ‘tip of the iceberg’, Union Minister Ravi Shankar Prasad on Monday called upon tech giant Apple to create a ‘robust’ presence in India.

The Minister, who holds the portfolio of Electronics and IT, was speaking to reporters after a day-long conference with over 50 top executives from the electronics manufacturing sector.

“Apple has started making phones in India, including components…They have started iPhones and components for exports. But this is just the tip of the iceberg. I want a robust presence of Apple in India,” Mr. Prasad said. He also called upon South Korean electronics giant Samsung to have a ‘super robust’ presence in India.

At present, two Apple phones — iPhone 6S and iPhone 7 — are assembled in India through contract manufacturer Wistron.

Promising all support from the government, including sops for making in India and exporting from here, Mr. Prasad pitched for making India a hub for electronics manufacturing. India has set a target of creating $400 billion electronic manufacturing ecosystem by 2025.

“India will offer you human resource, investor-friendly policies, and incentives for making in India, and for exports,” the Minister said. He added that the government would come out with key measures to incentivise exports from India in two to three months.

Mr. Prasad has also instructed his Ministry to set up a taskforce that would regularly interact with the industry, take their suggestions and address concerns.

Monday’s meeting, which was also attended by Niti Aayog CEO Amitabh Kant and Revenue Secretary Ajay Bhushan Pandey, saw representatives from all major segments of electronics sector, including mobile handsets, consumer electronics, medical devices, components, telecom and LED lighting.

Informalnewz

Petrol Petrol prices in metros hiked by 25-27 paise per litre

Petrol prices across metros have been increased by 25-27 paise per litre, while diesel prices have gone up by 24 paise. According to information from Indian Oil, petrol now costs Rs 74.89 per litre in Bengaluru, Rs 75.26 per litre in Chennai, Rs 76.99 in Hyderabad and Rs 74.51 in Ernakulam.

While petrol prices in Hyderabad and Chennai went up by 27 paise, Bengaluru’s went up by 26 paise and Ernakulam saw petrol price increase by 34 paise, as compared to the previous day.

In Delhi, a litre of petrol now costs Rs 72.42, in Mumbai Rs 78.10, and in Kolkata Rs 75.14.

Diesel prices in Hyderabad now stand at Rs 71.75 a litre, Rs 68.06 in Bengaluru, Rs 69.57 in Chennai, Rs 65.82 a litre in Delhi, Rs 69.04 in Mumbai, and Rs 68.23 in Kolkata.

This is steepest hike in petrol prices since the July 5 budget, when a hike in excise duty led to petrol prices increasing by nearly Rs 2.50 a litre.