अपना आसमान खुद बनाएगी, औरों को भी उड़ने का हौसला देगी

अवी शाम को जल्दी आ जाना आज दिल्ली वाले आ रहे हैं तुझे देखने” माँ ने टोका। “ठीक है माँ” कहती हुई अवनी निकल गई। एमबीबीएस करके एक हॉस्पिटल में जॉब कर रही अवनी की शादी के लिए उसके माँ बाप उसी की तरह डॉक्टर लड़का ढूंढ रहे थे, अब डॉक्टर बेटी के लिए ऐसा…

The love-life of Jigar Moradabadi

Anisur Rahman Jigar Moradabadi lived two lives of love and longing. In one, he was liked, loved, and then helplessly separated from his beloved; in another, he was accepted, rejected, and finally reunited with one who happened to be his wife once. One is a stormy narrative of his love with Raushan; another a saga…

‘अमर विश्वास’ एक ऐसा नाम जिसे मिले वर्षों बीत गए

मेरी बेटी की शादी थी और मैं कुछ दिनों की छुट्टी ले कर शादी के तमाम इंतजाम को देख रहा था. उस दिन सफर से लौट कर मैं घर आया तो पत्नी ने आ कर एक लिफाफा मुझे पकड़ा दिया. लिफाफा अनजाना था लेकिन प्रेषक का नाम देख कर मुझे एक आश्चर्यमिश्रित जिज्ञासा हुई. ‘अमर…

Hum ko junoon kya sikhlatey ho

Wo to kahin hain aur magar dil ke aas paasPhirti hai koi shai nigaah-e yaar ki tarah Can one be a romanticist and a classicist at one and the same time? The answer would be in negative. But a few have disproved it. Majrooh Sultanpuri was one such poet who drew upon both and blended…

बड़प्पन – भाई! तू सच में बड़ा हो गया

मायके आई बेटी अपनी मां को बड़ी ही हैरानी से देख रही थी। मां बड़े ही ध्यान से आज के अखबार के मुख पृष्ठ के पास दिन का खाना सजा रही थीं। दाल, रोटी, सब्जी और रायता। फिर झट से फोटो खींचकर व्हाट्सप्प करने लगीं। बेटी बोली- मां! ये खाना खाने से पहले फोटो लेने…

राजा बेटा…!!

ऑफिस से लौटकर घर में कदम रखते ही बंटी दौड़कर सुकेश से लिपट गया, “पापा आ गए, पापा मुझे आपको कुछ दिखाना है।” बेटे का उतावलापन देख सुकेश ने थके होने पर भी उसे गोद में उठा लिया। आगे बढ़ते ही पिताजी के कमरे से जोर-जोर से खांसने की आवाज़ आई। उसने पत्नी को देखा,…

वो ट्रेन का सफर….

जैसे ही ट्रेन रवाना होने को हुई, एक औरत और उसका पति एक ट्रंक लिए डिब्बे में घुस पडे़। दरवाजे के पास ही औरत तो बैठ गई पर आदमी चिंतातुर खड़ा था। जानता था कि उसके पास जनरल टिकट है और ये रिज़र्वेशन डिब्बा है। टीसी को टिकट दिखाते उसने हाथ जोड़ दिए। ” ये…