Being Bhagirath: कूड़ा स्थल को मिला नया रूप

बीइंग भगीरथ टीम के स्वयं सेवियों ने लगातार चौथे रविवार को भी कनखल स्थित कल्पवृक्ष वाटिका व पास ही अघोषित कूड़ा स्थल पर सफाई अभियान चलाया। टीम के सदस्य लगातार कल्पवृक्ष वाटिका को भव्य व सुन्दर बनाने के लिए सफाई अभियान में जुटे हुए हैं।

कल्पवृक्ष वाटिका के कायाकल्प के लिए वन विभाग व केआरएल की मदद भी ली जा रही है। संयोजक शिखर पालीवाल ने कहा कि पौराणिक मान्यताओं के अनुसार समुद्र मंथन के दौरान निकले कल्पवृक्षों का बड़ा महत्व है। अति दुर्लभ माने जाने वाले कल्पवृक्ष कनखल में मौजूद हैं। इन वृक्षों का संरक्षण व संवर्द्धन जरूरी है। क्योंकि कल्पवृ़क्ष वाटिका में पिछले कई वर्षो से व्याप्त गंदगी, पाॅलीथीन, गोबर व घरों की गंदगी को फेंका जा रहा है। वृक्षों की देखभाल चौथे सप्ताह भी टीम के सदस्यों द्वारा की गयी है। वाटिका को सुन्दर मनमोहक बनाने के लिए निस्वार्थ भाव से घंटों श्रमदान किया जा रहा है। जिससे कनखल व आसपास के लोगों में भी जागरूकता आयी है।

कल्पवृक्ष वाटिका भ्रमण के लिए क्षेत्र के लोगों के लिए सुन्दर व भव्य बनायी जा रही है। शिखर पालीवाल ने बताया कि कनखल में देश विदेश से श्रद्धालु भक्त भी आते हैं। ऐसे में कल्पवृक्ष वाटिका, गंगा वाटिका व नक्षत्र वाटिका के सुन्दर व मनमोहक दर्शन भी धर्मनगरी के पर्यटन को बढ़ावा मिलता है। वन विभाग एवं केआरएल के अधिकारियों का सहयोग भी इन वाटिकाओं के संरक्षण एवं संवर्द्धन के लिए लिया जा रहा है। के.आर.एल प्रबंधक सुखबीर चौधरी ने कहा कि बीइंग भगीरथ की युवा टीम अवश्य ही धर्मनगरी की वाटिकाओं को सुन्दर स्वच्छ बनाने की यह मुहिम अवश्य ही पर्यटन के क्षेत्र में बढावा देने वाली है। उन्होंने कहा कि बीइंग भगीरथ टीम की मांग पर ही जेसीबी मशीन से वाटिका के पास अघोषित कूड़ा स्थल से कई टन कूड़ा उठवाया गया है व जेसीबी की मदद से गोबर व मलबा डालने के लिए पिट बनायी गयी है।

रजनीश शर्मा ने कहा कि वन विभाग की मदद से ट्री गार्ड और पौधे लेकर अघोषित कूड़ा स्थल को साफ कर पंचपल्लव वाटिका बनाने का प्रयास किया जा रहा है। जिसमें आम, पीपल, बरगद, पिलखन आदि वृक्षों के पौधे लगाए गए हैं। जिससे दोबारा वहां कूड़ा ना एकत्र हो।

कनखल के जनप्रतिनिधियों एवं समाजसेवियों से भी अपील की जा रही है कि वह भी इन सुन्दर वाटिकाओं के संरक्षण के लिए पहल करें। विवेक कौशिक, संदीप खन्ना, सीमा चैहान, अमित जांगिड़, विपिन सैनी, तन्मय शर्मा, रोहित शर्मा, मोहित विश्नोई, हन्नी सैनी, विपुल गोयल, नीरज गुप्ता, देवेश, वृधा चंदवानी, परीक्षित, अनिकेत, सुशांत, आदित्य भाटिया, शिवा कश्यप, माणिक बाली, नीरज भूटानी, शिवम घोष, मधु भाटिया, ईशिता भाटिया आदि बीइंग भगीरथ टीम के स्वयं सेवियों ने सफाई अभियान में सहयोग किया।

Advertisements

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s