बिना वीजा के करिए इन 42 खूबसूरत देशों की सैर

क्या आपको भी घुमने का शौक है.. देश-विदेश घुमना चाहते हैं पर शायद कई बार वीजा न मिलने की वज़ह से हम जा नहीं पाते. एक समय ऐसा भी था जब विदेश घूमने जाना मुश्किल हुआ करता था. वीजा पाने के लिए न जाने कितनी ही कोशिशें करते थे लेकिन अब ऐसा नहीं है। भारतीय पासपोर्ट धारकों को कई देश वीजा ऑन अराइवल देते हैं, जबकि कई देशों में भारतीय पर्यटकों को बिना वीजा के ही एंट्री मिलती है.

तो चलिए आपको बताते हैं कि आप वीजा के झंझट में पड़े बगैर किन देशों की सैर कर सकते हैं.

फिजी- खूबसूरत बीचों वाला फिजी पर्यटकों के लिए किसी जन्नत से कम नहीं है. भारतीय पर्यटकों को फिजी घूमने के लिए वीजा की जरूरत नहीं है. बस आपके पास एक निश्चित बैंक बैलेंस और रिटर्न टिकट होना चाहिए. यहां 4 महीने तक आप घूम सकते हैं.

मॉरीशस- भारतीय पासपोर्ट धारकों को मॉरीशस भी वीजा फ्री एंट्री देता है और यह 90 दिनों के लिए वैध होता है. पर्यटकों के पास रिटर्न टिकट और पर्याप्त बैंक बैलेंस जरूर होना चाहिए.

इंडोनेशिया- इंडोनेशिया घूमने के लिए भी भारतीय पर्यटकों को वीजा की जरूरत नहीं है. यहां आप बिना वीजा के 30 दिन तक घूम सकते हैं.

भूटान-भारत का पड़ोसी देश भूटान पर्यटकों की पसंदीदा जगह है. भारतीयों को भूटान जाने के लिए वीजा की जरूरत नहीं पड़ती है. पासपोर्ट या कोई दूसरी वैध आईडी ही पर्याप्त है.

सेनेगल- सेनेगल में घूमने के लिए आपको वीजा की जरूरत नहीं है और आप यहां 90 दिनों के लिए रुक सकते हैं. बस एक बात का ध्यान रखें कि आपका पासपोर्ट आपके पहुंचने की तारीख से 3 महीने तक वैध होना चाहिए.

मालदीव्स- द्वीपों का देश मालदीव्स भी भारतीय पर्यटकों को 30 दिनों के लिए वीजा ऑन अराइवल ऑफर करता है.

जॉर्डन- यह अरब देश भी भारतीयों को वीजा ऑन अराइवल की सुविधा देता है.  जॉर्डन के लिए 56.5 अमेरिकी डॉलर वीजा फीस देनी पड़ती है. ये वीजा अधिकतम 30 दिन के लिए मान्य होता है. इस देश को ‘पश्चिम एशिया का नगीना’ भी कहा जाता है. दो हफ्ते की होटल बुकिंग और पर्याप्त बैंक बैलेंस के सबूत देकर आप बिना किसी झंझट के घूम सकते हैं

नेपाल- हिमालय की गोद में बसे नेपाल घूमने के लिए वीजा की जरूरत नहीं है. भारतीय नेपाल में बिल्कुल फ्री होकर घूम सकते हैं.

केन्या- भारतीय टूरिस्टों में केन्या भी अहम स्थान रखता है. यह देश भी भारतीयों को वीजा ऑन अराइवल की सुविधा देता है. ये वीजा अधिकतम तीन महीने के लिए मान्य होता है. भारतीय पर्यटकों को 51.5 अमेरिकी डॉलर (3,705 रुपये) वीजा फीस देनी पड़ती है.

श्रीलंका- भारतीय टूरिस्ट को श्रीलंका में वीजा ऑन अराइवल की सुविधा देता है. भारतीय टूरिस्ट को वीजा फीस के लिए 20 अमेरिकी डॉलर (1,453 रुपये) देना होता है. यह वीजा अधिकतम 30 दिन के लिए मिलता है.

थाईलैंड- थाईलैंड भारतीय टूरिस्टों को अपने देश में आने पर वीजा देता है. इस वीजा की अवधि 15 दिनों तक के लिए ही मान्य होती है, यह एक खूबसूरत देश है.

कंबोडिया- कंबोडिया की जर्नी अपने आप में ही ऐतिहासिक बन जाती है. अविकसित होने के बावजूद भी यहां के लोग बहुत ही अच्छे स्वभाव के होते हैं. कंबोडिया भी भारतीयों को वीजा ऑन अराइवल देने वाले देशों में से एक है. यह वीजा 30 दिनों के स्टे के लिए वैध होता है. आपके पास वैध पासपोर्ट होना चाहिए.

पलाउ- यह एक आयलैंड देश है जो वेस्टर्न पैसिफिक ओशियन में है. पलाउ भारतीयों को अधिकतम 30 दिनों के लिए वीजा ऑन अराइवल देता है. कुछ धनराशि का भुगतान करके आप यह अवधि बढ़वा सकते हैं.

बहरीन- फारस कीखाड़ी में स्थित देश बहरीन भारतीय नागरिकों को ई-वीजा की सुविधा देता है. आप इसकी कॉपी अपने पास जरूर रखिए.

बोलिविया-यह देश वेस्टर्न सेंट्रल साउथ अमेरिका में है. यहां घूमने के लिए आपको 90 दिन के लिए वीजा ऑन अराइवल मिलता है.

बुरुंडी-बुरुंडी अधिकारियों द्वारा जारी किए गए एंट्री ऑथराइजेशन लेटर जारी करता है. इसके आधार पर आप वीजा ऑन अराइवल देता है जो एक महीने के लिए वैध होता है. पासपोर्ट व अन्य जरूरी दस्तावेज जरूर रखें.

केप वर्डे- यह देश वीजा ऑन अराइवल देता है. यहां 30 दिन के लिए आप स्टे कर सकते हैं.

कोमोरोस- वीजा ऑन अराइवल की सुविधा है. 45 दिनों के लिए आप यहां स्टे कर सकते हैं.

डोमिनिका- सक्रिय ज्वालामुखी का देश डोमिनिका भीड़भाड़ से दूर है. भारतीयों को 180 दिनों के लिए वीजा ऑन अराइवल फ्री है.

एल सल्वाडोर-सेंट्रल अमेरिका में बसा यह देश भी बहुत खूबसूरत है. एल सैल्वाडोर के लिए भारतीय पर्यटकों को वीजा ऑन अराइवल मिलता है जो 3 महीनों के लिए मान्य होता है. 90 दिनों का परमिट देश के ज्यादातर हिस्सों में घूमने की इजाजत देता है.

जॉर्जिया– यूरोपीय देश जॉर्जिया उन चुनिंदा देशों में से एक है जो ई-वीजा की सुविधा देता है.

ग्रनेडा- कैरिबयन आईलैंड ग्रनेडा में भी आपको वीजा ऑन अराइवल की सुविधा मिलेगी. 90 दिनों के वीजा के लिए आपको कोई शुल्क नहीं चुकाना पड़ेगा.

किट्स ऐंड नेविस- बिना वीजा के आप ये देश भी घूम सकते हैं. सेंट किट्स ऐंड नेविस में आप 3 महीनों के लिए स्टे कर सकते हैं. यहां पहुंचने की तारीख से आपके पासपोर्ट की वैधता 6 महीनों तक के लिए होनी चाहिए.

लाओस- लाओस भी भारतीय पर्यटकों को वीजा ऑन अराइवल देता है जो 30 दिनों के लिए वैध होता है. इसका शुल्क करीब 40 अमेरिकी डॉलर है. आपके पास वैध पासपोर्ट, फोटोग्राफ, रिटर्न टिकट और जरूरी दस्तावेज होने चाहिए.

टोगो- बीच और जंगलों के लिए मशहूर टोगो के लिए आपको पहले पैरिस जाना होगा. टोगो भी भारतीय पर्यटकों को वीजा ऑन अराइवल देता है जो सात दिनों के लिए मान्य होता है.

मकाऊ- मकाऊ जाने के लिए भी भारतीयों को वीजा की जरूरत नहीं पड़ती है. मकाऊ जाने के लिए हॉन्ग कॉन्ग से होकर जाना सबसे अच्छा रहेगा.

मेडागास्कर- मेडागास्कर में भी भारतीय पर्यटकों को वीजा ऑन अराइवल मिलता है. यह 30 दिनों के लिए वैध है और फ्री है.

सेशेल्स- सेशेल्स अराइवल पर परमिट देता है. तीन महीने के लिए वैध इस परमिट के लिए आपको कोई फीस भी नहीं चुकानी पड़ेगी.

सूरीनाम-
जंगलों और खूबसूरत नदियों वाला देश सूरीनाम एयरपोर्ट पहुंचने पर भारतीय पर्यटकों को सिंगल एंट्री टूरिस्ट कार्ड जारी करता है. इसके बाद आप अधिकतम 90 दिनों के लिए स्टे कर सकते हैं.

तंजानिया- तंजानिया भी वीजा ऑन अराइवल की सुविधा देता है जिसकी फीस 50-100 अमेरिकी डॉलर चुकानी पड़ेगी. हालांकि, यहां के लिए डायरेक्ट फ्लाइट नहीं है.

त्रिनिदाद ऐंड टोबैगो- पार्टी करने वालों के लिए त्रिनिदाद ऐंड टोबैगो बेस्ट डेस्टिनेशन है. यहां भी घूमने के लिए भारतीयों को वीजा की जरूरत नहीं है. आप यहां 90 दिनों के लिए स्टे कर सकते हैं.

युगांडा-अफ्रीकी देश युगांडा घूमना अपने आप में एक अलग अनुभव होता है. भारतीयों को वीजा ऑन अराइवल की सुविधा मिलती है. 90 दिनों के वैध वीजा के लिए आपको 50 अमेरिकी डॉलर की फीस देनी होगी.

जिम्बॉब्वे- जिम्बॉब्वे की कई जगहें यूनेस्को विश्व धरोहर में शामिल हैं. भारतीयों को ई-वीजा की सुविधा देता है.

मलेशिया- ऊंची-ऊची इमारतों वाला मलेशिया प्राकृतिक खूबसूरती से भी भरपूर है. मलेशिया घूमने के लिए आप ई-वीजा के लिए अप्लाई कर सकते हैं. अगर भारतीय पर्यटक सिंगापुर, थाईलैंड या इंडोनेशिया से सीधे यहां आते हैं तो उन्हें वीजा ऑन अराइवल मिल जाता है.

म्यांमार-म्यांमार भारतीय पर्यटकों को ई-वीजा देता है जो बहुत ही सुविधाजनक है.

मलावी- अफ्रीकी देश मलावी वीजा ऑन अराइवल मिलता है जो 30 दिनों के लिए वैध होता है. पर्याप्त फंड, वैध पासपोर्ट और जरूरी दस्तावेज जरूरी हैं.

विसेंट- भारतीयों के लिए सेंट विसेंट वीजा फ्री डेस्टिनेशन है. आप यहां एक महीने तक स्टे कर सकते हैं.

सेंट लूसिया- 90 दिनों के लिए वीजा ऑन अराइवल फ्री है.

मिक्रोनेशिया- 30 दिन के लिए वीजा ऑन अराइवल.

वानाआतु- वीजा ऑन अराइवल, 30 दिन के लिए.

इक्वाडोर- 90 दिनों के लिए वीजा ऑन अराइवल मिलता है.

इथोपिया- 30 दिनों के लिए वीजा ऑन अराइवल.

समोआ- अराइवल पर अधिकतम 90 दिन का एंट्री परमिट.

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s